RTI के बारे में जाने

right to information act 2005 rti india book hindi hindi rti rti 2005 application proforma right to information soochna ka adhikar 2005 information commision adress cic sic state information comission commision 
rti fees fee by postal order rti highcourt postal fee ramesh verma rti activist haryana hisar helpline rti booklet hindi print rti rti act rti kanoon kanun india state centre post office rti success story  rti activist haryana right to information hindi book appeal provision hindi rti suchna ka adhikar soochna ka adhikar in india right to information 2005 success story khulasa ramesh verma hisar hissar social activist ramesh verma hisar haryana cphone 092540-58674 famous rti activist india haryana hisar hissar hindi all proforma of rti RTI RTI HINDI BOOKS RTI SUCCESS STORY RTI ACTIVIST RAMESH VERMA right to information suchna ka adhikar soochna ka adhikar first appel second appeal proforma hindi rti activist hayana famous rti activist social activist ramesh vermma tv programmae

1 टिप्पणी:

  1. मेरे सभी आर टी आई कार्यकर्ता साथियो
    मित्रो ,
    भारतीय कानून सुचना का अधिकार अधिनियम २००५ तहत हम सरकारी एव सरकार के अधीनस्थ विभिन संस्थाओ से सुचना मांगते है ,आये दिन
    हमारे कार्यकर्ताओ को जान से हाथ धोना पड़ता है ,सुचना मांगना मोत को गले लगाना जैसा है ,भारतीय जो सरकार ने आम जनता के लिए बनाया गया है ,
    तो फिर ये खूनखराबा कब तक हम सेहन करेंगे ,कब तक नित्य एक खबर मिलती है की आज पूना में एक आर टी आई कार्य करता को गोली मर दी गयी आज लखनऊ में गोलियों से भून दिया गया ,मित्रो कब तक क्या आर टी आई मांगना मोत को बुलावा है ,क्या सरकार ये ही चाहती है की कार्यकर्ता ऐसे ही मरते रहे वो भी एक कानून का इस्तेमाल कर के कब तक बहिन बेटियो के माथे का सिंदूर उजड़ता रहेगा ,कब तक छोटे छोटे बचो के ऊपर से एक बाप का छाया उठता रहेगा ,पुलिस को शिकायत करने पर कोई सुरक्षा नहीं दी जाती कब तक ये सिलसिला चलता रहेगा ,एक हक़ की लड़ाई में जान गवानी पड़ती है ,एक कार्यकर्ता सरकारी विभाग से सुचना मांगता है उसके बाद उसकी जिंदगी खतरे में पड़ जाती है ,धमकिया मिलनी चुरू हो जाती है जैसे कोई बहुत बड़ा गुनाह कर दिया हो ,पुलिस में शिकायत दर्ज करवाये तब पुलिस कार्यकर्ता को सुरक्षा नहीं देती ,उल्टा आर टी आई वापस लेने की नसीहत कब तक ये खुनी खेल चलता रहेगा ,सरकार आर टी आई कार्यकर्ताओ को सुरक्षा हेतु कड़े कदम क्यों नहीं उठा रही है ,क्या सरकार ये ही चाहती है की आये दिन हमारे कार्यकर्ता ऐसे ही माफियाओ के शिकार होते रहे ,मेरी भारत सरकार से अपील है की आर टी आई कार्यकर्ताओ को कड़ी सुरक्षा उपलबध करवाये ,ताकि ये खुनी खेल पर काबू पाया जा सके एक कानून का इस्तेमाल करने वाले जागरूक कार्यकर्ता की जान जोखिम में न पड़े ,अन्यथा ये खुनी खेल दिन प्रतिदिन उग्र बनता जा रहा है ,वन्देमातरम जय हिन्द
    आर टी आई कार्यकर्ता ,जगदीश आर राजपुरोहित जालोर राजस्थान

    उत्तर देंहटाएं